Entertainment Himachali Cinema

क्या है हिमाचल के फ़िल्म और एंटरटेनमेंट अवार्ड?

Film & Entertainment Award
Spread the love

4 मार्च 2018 को शिमला स्थित गेयटी थिएटर में आयोजित फिल्म एंड एंटरटेनमेंट अवार्ड हिमाचल में एक नया चर्चा का विषय बन गए। ऐसा पहली बार हुआ की हिमाचल प्रदेश में इस तरह के कार्यक्रम का आयोजन किया गया. परन्तु इस कार्यक्रम का बहुत से कलाकारों ने जहां सकारात्मक रूप से स्वागत किया वहीँ कुछ उभरते हुए कलाकार तथा हिमाचल के कुछ दिग्गज़ कलाकार इस कार्यक्रम की आलोचना भी कर रहे हैं।

Govind Singh Thakur
गोविन्द सिंह ठाकुर के साथ नरेश कुमार कौंडल और धरम सिंह

परन्तु आगे की चर्चा करने से पहले आइए जान लें कि इस आयोजन की शुरुआत कहाँ से हुई और किसने की।

नरेश कुमार कौंडल और धरम सिंह नाम के दो साथियों ने कुछ साल पहले सोलन में प्रोमोटर्स ऑफ़ सोशल एंड कल्चरल हेरिटेज ऑफ़ हिमाचल प्रदेश (PSCHHP) नामक संस्था की शुरुआत की। ये दोनों साथी सोलन स्थित एक विश्वविद्यालय में कार्यरत हैं। इस संस्था के अंतर्गत उन्होंने हिमाचल के कलाकरों को मंच प्रदान करने का फैसला किया और हिमाचल गॉट टैलेंट नाम से हिमाचल के उभरते हुए कलाकारों को मंच प्रदान किया।

हिमाचल गॉट टैलेंट के सफल आयोजन के बाद नरेश और धरम ने हिमाचली कलाकारों को सम्मानित करने को लेकर एक कार्यक्रम करने की सोची परन्तु यह कार्क्रम कैसा हो और इसे किस तरह से किया जाए इस बात पर निर्णय नहीं हो पा रहा था। क्योंकि हिमाचल में कलाकारों और विभूतियों को सम्मानित करने का कार्यक्रम कुछ और संस्थाएं भी करती आई हैं। वहीँ से नरेश कुमार कौंडल और धर्म सिंह इस कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार करने और इसके सफल आयोजन के लिए अपनी कोशिशों में जुट गए।

क्योंकि नरेश कुमार और धरम सिंह फिल्म या टेलीविज़न से सम्बन्ध नहीं रखते इसलिए इस आयोजन में उन्हें बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। वे जिन लोगों को जानते थे उन्हें इसमें जोड़ने की कोशिश की। इस बीच बहुत से ऐसे कलाकारों को इस कार्यक्रम में नहीं बुला पाए या बुलाने में देरी हो गयी जो काफी समय से फिल्म और टेलीविज़न में काम कर रहे हैं। साथ ही साथ थिएटर से जुड़े कलाकारों को भी शामिल नहीं कर पाए। परन्तु उनका यह कदम सराहनीय है। इस कार्क्रम के आयोजन से वो पहली बार हिमाचल से फिल्म जगत और टेलीविज़न की दुनिया में काम कर रहे कलाकारों को एक मंच पर ला पाए।

यह कार्यक्रम कई मायने में कामयाब रहा। पहला तो यह कि फिल्म व टेलीविज़न जगत से जुड़े लोग, जो आज तक एक दूसरे से भी ठीक से मिल नहीं पाए थे, उन्हें एक दूसरे को जानने और समझने का मौका मिला। वहीँ दूसरा यह कि इस कार्यक्रम की वजह से सभी कलाकार शिमला में इक्कट्ठा हो पाए और एक लम्बे अरसे से इकठ्ठा होकर सरकार से बात करने की कोशिश कर रहे थे।


Spread the love

About the author

Pahari Cinema

Pahari Cinema, an online journal of cinema, music and entertainment in Himachal, Uttarakhand and Jammu & Kashmir. For any complaint, queries or information contact us at cinepahari@gmail.com

Follow us on Facebook & Twitter

You can find us on social network and follow us for regular updates about entertainment updates from Himachal, Uttarakhand and Jammu & Kashmir.

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com